Header Ads

ad

शीघ्रपतन Premature Ejaculation अर्थात वीर्य का सेक्स में समय पूर्व निकल जाने का रोग,कारण व इलाज

शीघ्रपतन (Premature Ejaculation) सैक्स करते समय स्त्री की सन्तुष्टि से पहले  वीर्य का निकल जाना शीघ्रपतन कहलाता है।

इस रोग में  रोगी चाहकर भी वीर्य को रोक नही पाता है इस रोग से रोगी ही नही अपितु उसका यौन साथी भी परेशान हो जाता है क्योंकि उसे भी सैक्स सन्तुष्टि नही मिल पाती है कई बार इस कारण से सैक्स सहयोगिनी या पार्टनर उल्टा सीधा कहती है गाली भी दे देती है,अतः इस रोग से ग्रसित पुरुष कई बार लज्जा के कारण कुछ कह नही पाता वल्कि वर्दाश्त करता रहता है।शीघ्र पतन की सबसे गंभीरावस्था जब होती है जबकि सम्भोग क्रिया शुरू होते ही या होने से पहले ही पुरुष का  वीर्यपात हो जाता है।सेक्स की समयावधि कितनी होनी चाहिए अर्थात कितनी देर तक वीर्यपात नहीं होना चाहिए, इसका कोई निश्चित मापदण्ड नहीं है। यह प्रत्येक व्यक्ति की मानसिक एवं शारीरिक स्थिति पर निर्भर होता है।
शीघ्रपतन समय से पहले वीर्य का निकल जाना है। यह “समय” कोई निश्चित समय नहीं है पर जब “एंट्री” हुयी नही कि “एक्सिट” हो गया या स्त्री-पुरुष अभी चरम पर न हो और स्खलन हो जाए तो यह शीघ्रपतन  है। ऐसे में पुरुष के मन में असंतुष्टि, ग्लानी, हीन-भावना, नकारात्मक विचारो का आना एवं उसकी स्त्री साथी के साथ संबंधों में तनाव आना संभव है। लीजिये मेरी दूसरी बेवसाइट पर इसी विषय से संबंधित लिंक
The Light Of Ayurveda: लो शीघ्रपतन की असर कारक व सस्ती सी दवा:
 इसके अलावा अन्य प्रयोग भी हैं जिनका प्रयोग करके आप अपने इस रोग का इलाज कर सकते हैं।

Shighrapatan Treatment

पति पत्नी में हेल्दी रिलेशनशिप के लिए दोनो ही पार्टनरों का सेक्स में संतुष्ट होना भी बहुत जरुरी है, लेकिन शीघ्रपतन याअर्ली इजेकुलेशन(Early Ejaculation) एक ऐसा रोग है जिसमें रोग तो पुरुष को होता है लैकिन दुःखी स्त्री होती है क्योंकि इस  रोग में शीघ्रपतन की  समस्या के कारण वह जल्दी ही झड़ जाता है और निष्चेष्ठ हो जाता है और महिला को यौन संतुष्टि नहीं मिल पाती है और वह विन पार लगी नैया के समान छटपटाती रह जाती है, किन्तु लगातार अगर उसे इसी समस्या से दो चार होना पड़े तो उसे भी अनिद्रा,  रोग को दूर करने के लिए आप  निम्न लिखित उपाय करके आप इस समस्या से मुक्त हो सकते हैं। वास्तव में ये सभी प्रयास एक प्रकार की सैक्स एक्सरसाइज ही कही जा सकती हैं।

* सेक्स के लिए उचित समय और उचित स्थान का चयन करें। ऐसे स्थान का चयन करें जो दोनों सेक्स पार्टनर को आनंद की अनुभूति कराए।
* सेक्स संबंध बनाते समय मन में किसी तरह का का भय, चिंता, घबराहट नहीं होना चाहिए और इस काम में कोई जल्दबाजी न करें।
* संभोग करते समय पहले अपने पार्टनर को उत्तेजित करने में अधिक समय लगाएें। यदि इस दौरान इरेक्शन हो जाए तो भी चिंतित न हों। सेक्स आराम का काम है इस काम में जल्दबाजी बिलकुल नकरें। याद रखें एक स्त्री को उत्तेजित होने में पुरुष से ज्यादा समय लगता है।
* संभोग की प्रक्रिया मे बीच-बीच में रुकें और फिर शुरू करें। रुकने के दौरान अपने पार्टनर का चुंबन करें और उसके नाजुक अंगों को सहलाएं।
* यदि आपको डायविटीज की समस्या है तो उसे कंट्रोल करें साथ ही शराब का कम से कम सेवन करें। याद रहे शराब का ज्यादा सेवन आपकी सेक्स लाइफ के लिए नुकसानदायक है।
* अपने पार्टनर से देर तक फोरप्ले  करते हुये बातचीत करें और  ध्यान फोरप्ले  पर दें तथा  पार्टनर के प्राइवेट अंगों को सहलाते हुये उत्तेजित करें।
*जो लोग योग करते हैं वे  अश्विनी मुद्रा का अभ्यास करें। जो इसे नही जानते उन्हैं इसे जानकर सेक्स का समय बढ़ा सकते हैं।
* इसके अलावा योग के जानकार वज्रोली मुद्रा से भी सेक्स समय को बढ़ा सकते हैं।

शिघ्रपतन के कारण,शीघ्र स्खलन का घरेलू इलाज,शीघ्रपतन के आयुर्वेदिक उपाय,शीघपतन का इलाज


No comments